ॐ स्वामी

विश्वासपात्र की मौन स्वीकृति

आश्रम के दो नैत्य अतिथि अप्रतिबंधित प्रेम और निष्ठा का प्रदर्शन करते हैं। शब्दों से नहीं अपितु अपने कार्यों से।

आश्रम मे पहले दिन से ही नियमित रूप से आगंतुक आते रहे हैं। इस क्षेत्र से दो आगंतुक प्रतिदिन आते हैं, उनमें से एक गौर तथा दूसरी श्याम वर्ण की है। उन दोनों की प्रकृति भिन्न है परन्तु दोनोंलगभग एक ही समय आती हैं। गौर वर्ण वाली मेरे पास बैठना पसंद करती है पर श्याम वर्णवाली दूरी बनाए रखना पसंद करती है। ऐसा नहीं लगता है की वो कोई ज्ञान अथवा उपदेश पाने के लिए आती हैं। वास्तव में उनके पास कोई प्रश्न नहीं है, वो केवल अपना स्नेह प्रदर्शित…read more

धार्मिक ग्रंथों का गोपनीय अर्थ

क्या धर्म-ग्रंथों की कथाएँ मनगढ़ंत कल्पना हैं? इनके शाब्दिक अर्थ का उतना महत्त्व नहीं, जितना इनके गोपनीय भाव का।

कल मुझे एक रोचक टिप्पणी प्राप्त हुई – क्या आप, कृपया, उन सभी महाकाव्यों व कथाओं पर अपने विचार व्यक्त करेंगे जो हम सब पढ़ते हैं? हर बार जब उन्हें पढ़ते हैं तो भिन्न उत्तर मिलते हैं व भिन्न प्रश्न भी सामने आते हैं। मुझे एक अनुभूति होती है कि बहुत से प्रसंग विगत काल में घटित हुए, और तत्वज्ञानी ऋषि-मुनियों ने इसे एक सुअवसर समझा और प्राणी-मात्र के भले के लिए उन्हें एक महान विचारणा के रूप में अनुवादित किया। मुझे अभी भी पूर्ण विश्वास नहीं कि यह सब…read more

जीवन एक संगीत उपकरण के समान है

मनुष्य के जीवन के स्वर, धुन एवं संगीत, जीवन के संगीत उपकरण पर कम और संगीतज्ञ पर अधिक निर्भर होते हैं।

जीवन एक संगीत उपकरण के समान होता है। उस की ध्वनि मधुर अथवा बेसुरी हो सकती है – वह संगीतज्ञ पर निर्भर है। कुछ उपकरणों के प्रयोग के लिए उंगलियों की स्थिरता की आवश्यकता होती है और कुछ के लिए विशेष निपुणता की। कुछ को पीटा जाता है तो कुछ में फूंक मारा जाता है। प्रत्येक उपकरण की ध्वनि अद्वितीय होती है और कुछ की तो विशिष्ट रूप से असाधारण होती है। कुछ का प्रयोग एक सहायक के रूप में अन्य संगीत उपकरण के संगत में ही किया जाता है।…read more

दीपावली का गोपनीय अर्थ

हम दीपावली क्यों मनाते हैं? इस ज्योति पर्व का गोपनीय अर्थ जानिए। व तुलसीकृत रामायण का एक अतिसुन्दर उद्धरण पढ़ें।

आप सब को मेरी ओर से दीपावली की (एक दिन पूर्व) हार्दिक शुभ कामनाएँ। आप शान्तिमय, जगमगाते हुए आने वाले दो दिन उल्लासपूर्वक मनाएँ! विभिन्न धर्मों में व अन्य धर्म ग्रंथों के अनुसार दीपावली का त्यौहार भगवान राम के, रावण संहार के पश्चात, सीता माता व लक्ष्मण सहित पुन: अयोध्या आगमन की खुशी में मनाया जाता है। सहस्रों वर्षों से यह इसी प्रकार मनाया जा रहा है। किसी भी सगुण उपासक (ईश्वर के साकार रूप का पूजक) अथवा हिंदू धर्म के अनुयायी के लिए यह पौराणिक न हो कर एक…read more

इच्छाओं का डीएनए

एक इच्छा दूसरी इच्छा की ओर ले जाती है। मानव डीएनए के समान, इच्छाओं का भी स्वयं का डीएनए होता है। उन्हें शांत करने का समाधान है जागरूकता।

कुछेक लोगों ने मुझसे संपर्क करने के विकल्पों और आश्रम परियोजना में अंशदान के विषय में प्रश्न किया है। इससे पहले कि मैं उनके प्रश्न का उत्तर दूँ, मैं एक कहानी कहने जा रहा हूँ जो मैंने बीस साल पहले बच्चों की बोध कथा में पढ़ी थी। एक समय की बात है एक गुरु और शिष्य जो दीक्षित सन्यासी थे एक गांव के बाहर आनंद पूर्वक निवास करते थे। जब गुरु ने शिष्य को समस्त शिक्षाएं दे दीं तो उन्होंने कुछ वर्षों के लिए एकांत में तपस्या करने का निश्चय…read more

123