ॐ स्वामी

कैसे प्रसन्न रहें

कठिनाईयों की वर्षा हो या समस्याओं का कीचड़, प्रसन्नता का वाहन सदैव तीन पहियों पर चलता है।

मुझे अक्सर दुनिया भर के पाठकों से ईमेल आते हैं, उनमें से अधिकतर की कोई समस्या होती है, कुछ की अनेक समस्याएं होती हैं। परंतु विषय यह नहीं कि उन की इतनी समस्याएं हैं, मुद्दा तो यह है कि वे इन समस्याओं के बीच प्रसन्न रहने में असमर्थ हैं। इसलिए यह एक आम धारणा है कि यदि हमारी समस्या दूर हो जाए, तो हमारी पीड़ा भी दूर हो जाएगी और यदि कोई पीड़ा ना हो, तो हम सुखी हो जाएंगे। कदाचित ही यह संभव है। मनुष्य के अधिकतर कार्य या…read more

दिखावे का जीवन

ढोंग करने से आप अपने आंतरिक शांती के स्रोत से दूर हो जाते हो। तनाव तथा उलझने स्वतः ही आपको जकड़ लेती हैं।

एक बार एक गांव के निवासी एक शेर से परेशान थे। हर रात वह शेर गांव में चुपचाप घुस कर कुछ असहाय भेड़ और बकरियों का शिकार करता था। कभी कभी वह गाय या भैंस का भी शिकार करता था। शेर को पकड़ने मे या उसको मारने मे ग्रामीणों का हर उपाय असफल रहा। आखिरकार, एक बहादुर आदमी ने एक सुझाव दिया, “किसी तरह, हमे दिन के समय शेर को आकर्षित करना होगा ताकि जब वह पास आये तब हम उस पर हमला कर सकें। इस जानवर से छुटकारा पाने…read more

1