ॐ स्वामी

शांत कैसे बनें?

आप शांति में कैसे रहें और अपने सम्बंधों को आहत न करें। इस पर एक स्वर्णिम सलाह के साथ यहाँ एक सरल कहानी है

पिछले वर्ष जब मैं ओशो के सिक्रेट्स ओफ़ सिक्रेट्स को सुनते हुए( धन्यवाद है कि यह श्रव्य था ), मैने एक रूसी संत जी आइ गुर्दजीफ़्फ़ के जीवन से एक कहानी सुनी। हालाँकि मैने स्वयं कुछ वर्ष पूर्व उनकी पुस्तकों  का स्वयं अध्ययन किया तो उनमें मैने उनके जीवन की ऐसी  किसी घटना के बारे में नहीं पढ़ा और ना ही इस प्रकार की किसी घटना का पी डी ओऊसपेंस्की   (वे  काफ़ी दीर्घ काल तक  उनके शिष्य रहे ) की पुस्तकों में  कहीं वर्णन है। इसलिए हालाँकि  मैं इस कहानी …read more

वह पात्र जो कभी नहीं भरता

यहाँ एक सुंदर कहानी दी जा रही है जो आपको सोचने के लिए विवश करेगी

अघोरी ने कहा “हे महाराज ! मैं बड़ी  ही आशा से आया हूँ क्या आप  मेरी इच्छा पूर्ण करेंगे?” राजा ने उत्तर दिया कहिए आपको क्या चाहिए? मेरे पास दान के लिए बहुत कुछ है। “ मुझे बस यह प्याला भरना है।”अघोरी ने अपना प्याला आगे बढ़ाया। “ बस इतना ही? यह तो मेरे सामाजिक कार्य संबंधी मंत्री ही कर देंगे। क्या आप मेरा  मज़ाक़ बना रहे हैं? बस भिक्षा का कमंडल! मैं बहुत अपमानित अनुभव कर रहा  हूँ।” राजा भद्रघोष ने उपरोक्त बातें कहीं, क्योंकि लोक कल्याण के कार्यों …read more